अंडमान मिशनरी मामला :- विदेश और गृह मंत्रालय की गंभीर चूक

2 months ago
Suresh Chiplunkar
अंडमान द्वीपसमूह के "संरक्षित" द्वीप सेंटिनल पर आदिवासियों द्वारा जो अमेरिकी मिशनरी मारा गया है, उसने कुछ गंभीर सवाल खड़े कर दिए हैं... जैसा कि मैं पहले भी कई बार यह मुद्दा उठा चुका हूँ कि भारत आने वाले ईसाई मिशनरी "टूरिस्ट वीज़ा" पर भारत आते हैं, लेकिन वे कभी टूरिस्ट स्पॉट पर नहीं जाते, बल्कि चर्च के अनाथालयों... सुदूर ग्रामीण स्कूलों... तथा आदिवासी इलाकों के जीर्णशीर्ण मंदिरों इत्यादि स्थानों पर जाकर सीधे-सीधे ईसाई धर्म का प्रचार करते हैं... विदेश मंत्रालय के सामने यह मुद्दा बारम्बार उठाया जाता रहा है कि ऐसे "तथाकथित" टूरिस्टों पर भारत सरकार की निगरानी और ख़ुफ़िया एजेंसियाँ अपनी निगाह बनाए क्यों नहीं रखती हैं? (क्या यह इतना कठिन कार्य है?). दूसरी बात ये है कि टूरिस्ट वीज़ा पर "धर्मान्तरण जैसे अनैतिक कार्य" करते हुए जब ऐसे मिशनरी रंगे हाथों पकड़े जाते हैं, तो इन्हें तत्क...........

For More Download the App