अमेरिका-तालिबान समझौते पर :- भारत के लाभ/हानि क्या हैं?

4 months ago
desiCNN
नाजुक दौर से गुजर रहा अफगानिस्तान एक नई करवट लेने जा रहा है। लगभग 18 वर्षों से अमेरिका की सेना यहां मौजूद है, लेकिन तमाम प्रयत्न करने के बाद भी तालिबान को हराने में वह सफल नहीं हो सकी। अमेरिका की राजनीतिक इच्छाशक्ति पूरी तरह शिथिल पड़ चुकी है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप चाहते हैं कि अफगानिस्तान से अमेरिकी फौज वापस बुला ली जाए। अमेरिका व तालिबान के बीच बातचीत जारी है और जानकार मानते हैं कि दोनों पक्षों के बीच जल्द ही एक समझौता हो जाएगा, जिसके बाद यहां से अमेरिकी सैनिकों की रवानगी शुरू हो जाएगी। अमेरिका की इस हार के कई कारण हैं, लेकिन मुख्य वजह है पाकिस्तान और तालिबान के प्रति उसकी लचीली नीति। इस नीति को समझने के लिए हमें 9/11 के न्यूयॉर्क आतंकी हमले से पहले और बाद की स्थिति को टटोलना होगा।अल कायदा का मुखिया ओसामा बिन लादेन साल 1996 में अफगानिस्तान के जलालाबाद शहर आया था, ...........

For More Download the App