आखिर पूरी दुनिया चंद्रमा के पीछे क्यों पड़ी है??

2 months ago
desiCNN
पृथ्वी से 3,84,000 किलोमीटर दूर चांद की सतह पर उतरना बेहद कठिन कार्य है और इसके लिए अद्भुत तकनीकी कौशल की आवश्यकता होती है। हमारे अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने चंद्रयान-2 को चांद की कक्षा में सफलता के साथ पहुंचाकर नया कीर्तिमान बनाया और फिर धरती से अपने इशारों पर विक्रम लैंडर यान को भी मुख्य यान से निकलकर चांद की सतह तक अवतरण करने का निर्देश दिया। उनके निर्देश पर विक्रम चांद की सतह की ओर बढ़ चला, लेकिन सतह से ठीक 2़1 किलोमीटर ऊपर पहुंंच जाने के बाद उससे सिगनल मिलना बंद हो गया। न जाने क्या हुआ उसके बाद। हो सकता है, वह कहीं ठीक-ठाक उतर गया हो या कहीं किसी चट्टान से टकरा गया हो। यह केवल संभावना है और अब भी हमारे कान विक्रम के सही-सलामत चांद की सतह पर उतरने की खबर सुनने के लिए बेताब हैं। चांद पर पहुंचने की यह चाहत आखिर शुरू कब हुई? चांद तो पहले सिर्फ चांद था- आसमान में चांदी के थाल-सा चम...........

For More Download the App