आयरलैंड के एक स्कूल में संस्कृत विभागाध्यक्ष की बौद्धिक नसीहत....

2 months ago
desiCNN
यह लेख उस भाषण का एक अंश है, जिसमें Rutger Kortenhost जो कि आयरलैंड के एक स्कूल में संस्कृत के विभाग अध्यक्ष हैं, उन्होंने वहां के पालकों के साथ एक मीटिंग में व्यक्त किए हैं. उल्लेखनीय है कि यूरोप के बहुत से विश्वविद्यालयों में संस्कृत के अध्ययन और पठन के लिए अलग से पीठ स्थापित हैं. इस लेख में कोर्तेन्होस्ट संस्कृत के बारे में विस्तार से बताते हैं और हमारी आँखें खुली की खुली रह जाती हैं... हम सोचने पर मजबूर हो जाते हैं कि जिस संस्कृत को भारत के नेहरूवादी कथित प्रगतिशील लोग, "पिछड़ी हुई भाषा", "हिंदूवादी-ब्राह्मणवादी भाषा" बताते हैं... जिस संस्कृत को यहाँ पैदा हुए नव-बौद्ध छाप ब्रेनवाश हो चुके लोग घृणा की दृष्टि से देखते हैं, उस देवभाषा का यूरोप में कैसा सम्मान किया जाता है. पढ़िए इस भाषण के संक्षिप्त अंश... देवियों और सज्जनों, हम यहां एक घंटे तक साथ मिल कर यह चर्चा करेंगे कि जॉन स्क...........

For More Download the App