ऑल इण्डिया रेडियो ने "अपने" भी कर दिए "पराए"

3 weeks ago
desiCNN
यह बात सही है कि अब वह समय आ गया है कि भारत का इतिहास या यूं कहा जाए कि सही इतिहास के पुर्नलेखन को किया जाकर आने वाली पीढ़ी के सामने उसे सही तरीके से पेश किया जाए। इसके साथ ही आजादी के बाद से अब तक क्या क्या चीजें छूट गईं हैं या किन किन चीजों में तब्दीली की जाना चाहिए, उस बारे में भी हुक्मरानों को विचार करने की महती जरूरत महसूस की जा रही है। इसे विडम्बना ही कहा जाएगा कि आल इंडिया रेडियो की विदेश प्रसारण सेवा में नेपाली भाषा को विदेशी भाषा की फेहरिस्त में रखा गया है, जबकि भारत गणराज्य के अभिन्न अंग सिक्किम की आधिकारिक भाषा नेपाली ही है। जब देश आजाद हुआ था उस समय के भौगोलिक और राजनैतिक नक्शों में अनेक तब्दीलियां हो चुकी हैं, पर इसके साथ ही अनेक बातें आज भी विसंगतियों के रूप में मौजूद हैं। यह कम आश्चर्य की बात नहीं है कि आल इंडिया रेडियो आज भी नेपाली भाषा को विदेशी भाषा ही...........

For More Download the App