काँग्रेस में इस्तीफों की नौटंकी और चाटुकारिता का चरम

3 months ago
desiCNN
देश के लोकप्रिय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुवाई और भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष भाई अमित शाह की कुशल रणनीति के कारण 2019 के लोकसभा चुनाव में वंशवादी, जातिवादी और वायदावादी राजनीति का अंत हो गया है। राज्यों में कई कुनबापरस्त क्षेत्रीय दलों का सफाया हो गया है। लोकसभा चुनाव में एनडीए को 352 तो भाजपा को अकेले ही 303 सीटें मिली हैं। नरेन्द्र मोदी की अगुवाई में यह एक नया इतिहास रचा गया है। महागठबंधन बनाकर मोदी-शाह को चुनौती देने वाले कई नेता तो लोकसभा में ही नहीं पहुंच पाए। दादा-पोते, बाप-बेटे, पति-पत्नी, चाचा-भतीजे सब चुनाव में हार गए।भाजपा की इस प्रचंड विजय के कारण विपक्षी दलों में हताशा व्याप्त है। विपक्षी दलों के बड़े-बड़े वायदों के बावजूद जनता छलावे में नहीं आई। अब बारी है विपक्षी दलों में नेताओं और कार्यकर्ताओं में गुस्सा फूटने की। नेता हताश हैं तो कार्यकर्त...........

For More Download the App