क्या कुमारस्वामी की तरह रोते हुए बिदा होंगे उद्धव ठाकरे??

2 months ago
desiCNN
महाराष्ट्र में लम्बी कवायद के बाद आखिरकार शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में सरकार का गठन हो चुका है। इस सरकार को राजनीति के ऐसे दो ध्रुवों का जबरदस्ती मिलन कहा जाए तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी। क्योंकि जहां शिवसेना खुलकर हिन्दुत्व के मुद्दे पर मुखर होकर राजनीति करती रही है, वहीं कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी विशुद्ध धर्मनिरपेक्षता का आवरण ओढ़कर राजनीति करने को ही अपनी प्राथमिकता मानती रही है। ऐसे में यह कहना तर्कसंगत ही होगा कि यह सरकार एक-दूसरे से भिन्न सिद्धांतों को अपनाने वाले दलों की सरकार है। कांग्रेस सहित शिवसेना और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी की इस नई सरकार के बारे में अभी से यह कहा जाने लगा है कि यह खंडित जनादेश की अवसरवादी सरकार है। खंडित जनादेश की संज्ञा देने के निहितार्थ यही हैं कि कांग्रेस और राकांपा को महाराष्ट्र की जनता...........

For More Download the App