डॉक्टर्स डे :- भारत रत्न बिधानचंद्र रॉय की स्मृति में...

4 months ago
desiCNN
उनकी मृत्यु के बाद ‘द ब्रिटिश मेडिकल जर्नल’ ने लिखा था कि अपने समय में वह संभवत: दुनिया के सबसे बड़े कंसल्टिंग फिजिशन थे। अगर कहीं यह खबर आ जाती कि डॉ. रॉय फलां शहर में हैं या उनकी ट्रेन फलां स्टेशन से गुजरने वाली है तो उन जगहों पर उनसे इलाज कराने के लिए मरीजों का बड़ा हुजूम इकट्ठा हो जाता था। ऐसे थे महान विभूति और ‘भारत रत्न’ से सम्मानित डॉ. बिधानचंद्र रॉय... आधुनिक भारत के महान डॉक्टरों में से एक, जिनके जन्मदिन 1 जुलाई को डॉक्टर्स डे के रूप में मनाया जाता है। उन्होंने चिकित्सा और समाजसेवा एक साथ की। दोनों को आखिरी वक्त तक नहीं छोड़ा। मूल्यों पर आधारित जीवन जिया और दूसरे मुख्यमंत्री के रूप में अपने गृहराज्य पश्चिम बंगाल के विकास में बड़ा योगदान दिया था।डॉक्टरी की पढ़ाई करने 1909 में जब वह लंदन के प्रतिष्ठित सेंट बार्थोलोम्यू अस्पताल गए तो वहां के डीन ने उनके भारतीय होने ...........

For More Download the App