दिल्ली का विश्व पुस्तक मेला :- चमक फीकी क्यों??

6 months ago
desiCNN
जनवरी की कड़कड़ाती ठंड के बीच राजधानी दिल्ली में हर साल आयोजित होने वाला विश्व पुस्तक मेला भले ही अपनी पहचान बना चुका हो, लेकिन वह अपनी रंगत खोता भी नजर आ रहा है। मेले के आयोजन को 48 साल हो चुके हैं। अर्धशती के करीब पहुंचे इस मेले के आयोजन की समीक्षा तो होनी ही चाहिए।वर्ष 1972 में पहले विश्व पुस्तक मेले का आयोजन 18 मार्च से चार अप्रैल के बीच किया गया था। बाद में यह मेला फरवरी में आयोजित होने लगा था। दिल्ली में जिस तरह की ठंड पड़ती है, उस लिहाज से फरवरी का महीना विश्व पुस्तक मेले के लिहाज से बेहतर रहा। लेकिन साल 2016 से इसका आयोजन जनवरी में होने लगा है। चूंकि इन दिनों दिल्ली में जबरदस्त ठंड पड़ती है, लिहाजा पाठकों का बड़ा रेला इस वक्त आने से कतराने लगा है। मेले की आयोजक संस्था राष्ट्रीय पुस्तक न्यास के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, साल 2016 में मेले का अतिथि देश चीन था। चीन में ...........

For More Download the App