प्रवासी मजदूरों की विकट समस्या :- न गाँव के रहे, और न शहरों के...

1 week ago
desiCNN
प्रवासियों के मुद्दे ने मानवीय दुखों को दिखाया और इससे सही तरीके से नहीं निपट पाने में प्रबंधन असफलता भी दिखी। इस मुद्दे पर राजनीतिक दलों के बीच आपसी भिड़ंत ने इस मुद्दे को और जटिल बना दिया। इस मानवीय विपदा ने लॉकडाउन विस्तार से होने वाले फायदे को भी मुश्किल में डाला है। वही लॉकडाउन जिसके कारण देश की आर्थिक गतिविधियां बिल्कुल रुक गईं।आइए समस्या के पहले लक्षण को देखें। यह केंद्र द्वारा लॉकडाउन घोषित करने कुछ दिन पहले शुरू हुआ था (उदाहरण के लिए महाराष्ट्र या लॉकडाउन के शुरू होने के तुरंत बाद दिल्ली में)महाराष्ट्र ने केंद्र सरकार के पूरे देश में लॉकडाउन घोषित करने के चार दिन पहले अपने कुछ औद्योगिक इलाके में 20 मार्च को लॉकडाउन की घोषणा कर दी थी। उस समय रेल सेवाएं जारी थीं। हमें पता है कि उन चार दिनों में पुणे रेलवे स्टेशन पर क्या हुआ था। ऐसी ही सबसे खराब स्थिति द...........

For More Download the App