बाल अपराधी केयर सेंटर :- कहाँ खड़ा है हमारा भारत?

5 months ago
desiCNN
(डॉ अजय खेमरिया)"जुबेनाइल जस्टिस एक्ट 2015" भारत मे करीब 20 साल पुराना है।मौजूदा एक्ट सन 2000 औऱ 2006 का अधतन विस्तार है।इसका उद्देश्य भारत के हर बालक को उसकी जन्मजात प्रतिभा और अवसरों का सरंक्षण उपलब्ध कराना है।भारत सरकार ने इसके लिये देशव्यापी एकीकृत बाल सरंक्षण योजना(आईसीपीएस)लागू की है। यह योजना शत प्रतिशत केंद्र प्रवर्तित है।सयुंक्त राष्ट्र संघ ने वर्ष 2019 को चाइल्ड प्रोटेक्शन और केयर बर्ष घोषित किया था।दुनिया के 19 फीसदी बच्चे इस समय हमारे देश में है। इसलिये जुबेनाइल जस्टिस एक्ट के अनुभवों पर चर्चाएं होना स्वाभाविक ही है।हाल ही में जस्टिस दीपक गुप्ता ने अपनी रोमानिया की यात्रा के जो अनुभव साझा किए है वह भारत में बाल सरंक्षण और पुनर्वास के लिहाज से इसलिये महत्वपूर्ण है क्योंकि प्रायः हर रोज स्थानीय अखबार बाल दुराचार और अन्य उत्पीड़ित प्रकरणों से भरे रहते है।ख...........

For More Download the App