बैंकों के विलय से सुधरेगी अर्थव्यवस्था :- जानिये कैसे

2 months ago
desiCNN
हाल ही में वैश्विक वित्तीय शोध संगठन नोमूरा ने कहा है कि सरकारी बैंकों का विलय अर्थव्यवस्था को गतिशील करने के लिए एक सकारात्मक पहल है। बैंकों के नए विलय से भविष्य में आर्थिक वृद्धि एवं लाभप्रदता का परिदृश्य दिखाई देगा। गौरतलब है कि विगत 30 अगस्त को नरेंद्र मोदी सरकार ने 10 सरकारी बैंकों को मिलाकर चार बड़े बैंक बनाए जाने का फैसला लिया है। सरकार चालू वित्त वर्ष के दौरान 70,000 करोड़ रुपये के पुनर्पूंजीकरण (रिकैपिटलाइजेशन) में से करीब 55,250 करोड़ रुपये की पूंजी इन्हीं बैंकों में डालेगी। ऐसे में अब सरकारी क्षेत्र के बैंकों की संख्या 18 से घटकर 12 रह जाएगी, जो वर्ष 2017 में 27 थी।निश्चित रूप से बैंकों का एकीकरण एक अच्छा कदम है, जो उद्योग-कारोबार, अर्थव्यवस्था और आम आदमी सबके लिए लाभप्रद होगा। इससे बैंकों की बैलेंसशीट सुधारेगी, बैंकों की परिचालन लागत घटेगी। पूंजी उपलब्धता से बैं...........

For More Download the App