बोडो उग्रवाद समाप्त :- मोदी सरकार ने किया ऐतिहासिक समझौता....

3 weeks ago
desiCNN
एक लंबे आंदोलन के बाद असम के ब्रह्मपुत्र घाटी में फैले बोडो जनजातीय को आखिर अपना हक मिल गया। वैसे उनका आंदोलन अलग राज्य के लिए आरंभ हुआ था, लेकिन 27 जनवरी को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल तथा बोडोलैंड क्षेत्रीय परिषद के अध्यक्ष हाग्रामा मोहिलारी की मौजूदगी में हुआ केंद्र सरकार, असम सरकार, बोडोलैंड क्षेत्रीय परिषद तथा उग्रवादी संगठन सभी नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंट आफ बोड़ोलैंड के सभी चार गुटों एवं ऑल बोडो स्टूडेंट्स यूनियन के बीच हुआ नया बोडो समझौते से बहुत हद तक उनकी मांगे पूरी हो गई हैं। इसलिए यह माना जा रहा है कि अलग बोडो राज्य की मांग समाप्त हो जाएगी और असम का विभाजन नहीं होगा।समझौते से खुश सर्वानंद सोनोवाल ने बताया कि असम का विभाजन हुए बिना बोडो जनजातीय लोगों की मांगों को मान लिया गया है। इस समझौते से असम का विभाजन नहीं होग...........

For More Download the App