भगवान राम की एक विशेषता यह भी :- जिसे कम लोग जानते हैं.

1 month ago
desiCNN
करोड़ों-अरबों में एक ही मनुष्य आजानुबाहु क्यों होता है। अभी अवतारों को लेकर कई बातें चली हैं। अवतारों के साधारण मनुष्य होने पर ज़ोर दिया जा रहा है। इस बारे में डॉ वासुदेव शरण अग्रवाल का लिखा बहुत मायने रखता है।उन्होंने लिखा है कि ‘भारतीय वाङ्मय परम्परा में रामायण पहला काव्य प्रबन्ध है जिसके नायक मनुष्य हैं। वाल्मीकि का नायक पूर्णत: लौकिक मनुष्य है। कौशल्या के गर्भ से उत्पन्न, दशरथ का पुत्र राम जो शील, शक्ति और मर्यादा का प्रतिमान है, जो अपने स्वयं के पराक्रम के बल पर महान उपलब्धियां अर्जित करता है। राम के दिव्य-अलौकिक गुणों को देखकर सत्यदृष्टा ऋषियों ने यद्यपि इनमें ईश्वरीय अवतार के दर्शन किये हैं तथापि, अपनी दैहिक उपस्थिति में राम मानवी रुप ही हैं।वे कहना चाहते हैं राम मानव रूप में अवतार थे। तथापि मानव रूप में होते हुए भी उनकी एक शारीरिक विशेषता ऐसी थी जो ...........

For More Download the App