भाजपा द्वारा हर कीमत (अजीत पवार प्रकरण) पर सरकार बनाने की जिद क्यों??

2 months ago
desiCNN
(लेखक :- डॉ अजय खेमरिया)क्या महाराष्ट्र में मिली शिकस्त से बीजेपी का आला नेतृत्व आत्मचिंतन की ओर उन्मुख होगा?यह सवाल आज इस पार्टी के लाखों कार्यकर्ताओं के मन मे कौंध रहा है जिन्हें आप कैडर कह सकते है भले ही पार्टी 13 करोड़ सदस्यों का दावा करती है लेकिन आप इसे कैडर नही कह सकते है, हां सत्ता के हमसफ़र जरूर है ये लोग जिनके पास किसी विचार की निधि नही है वे सत्ता से उतपन्न हुई सम्पन्नता के मालिक है। उनके पास संसाधन है लेकिन जिस वैचारिक धरातल पर बीजेपी का कार्यकर्ता अपनी विशिष्टता के लिए सामाजिक रूप से अधिमान्य था। आज उसकी भूमिका सत्ता के अश्वारोही आवेग में कहीं वैसे ही अप्रसांगिक होती जा रही है जैसे मोदी जी के प्रभामण्डल में देश की सियासत में विपक्षी दल।सवाल यह है कि क्या भारत के हर प्रदेश में सरकार स्थापित करना ही बीजेपी रूपी संसदीय विचार का एकमेव लक्ष्य था?1925 से चली संघ...........

For More Download the App