मध्यस्थता फेल :- अब राम मंदिर मसले पर अगला कदम क्या होगा??

2 weeks ago
desiCNN
सर्वमान्य समाधान की उम्मीदें खत्म और अयोध्या के विवाद को अब सुप्रीम कोर्ट में कानूनी लड़ाई के जरिए सुलझाने की कोशिश होगी। इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच की विशेष पीठ के 2010 में दिए गए अयोध्या मामले के निर्णय के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में सभी पक्षों की ओर से अलग-अलग अपील दायर हुई थी। इस अपील की सुनवाई शुरू हो, इसके पहले मध्यस्थता की एक और कोशिश की गई। यह माना गया कि मामले का सर्वमान्य समाधान ही वह रास्ता है, जिसका लाभ सद्भाव और विवाद के समापन व शांति स्थापना के रूप में मिल सकेगा। इसलिए जाब्ता दीवानी की धारा-89 के तहत तीन सदस्यों का पैनल सुप्रीम कोर्ट ने बनाया था। इसमें सुप्रीम कोर्ट के अवकाशप्राप्त न्यायाधीश खलीफुल्ला, मध्यस्थता के माहिर वकील श्रीराम पंचू और श्रीश्री रविशंकर को सदस्य नियुक्त किया गया था। इस पैनल का कार्यकाल बढ़ाने के बावजूद पक्षकारों के बीच कोई सहम...........

For More Download the App