मप्र का राजनैतिक घमासान और सिंधिया-दिग्गी राजा की लड़ाई

1 week ago
desiCNN
मप्र के वनमंत्री उमंग सिंघार के बोल मप्र की सियासत में कांग्रेस की गुटीय विरासत और कबीलाई संस्क्रति का पीढ़ीगत हस्तांतरण है। उमंग का परिचय स्व. जमुना देवी के भतीजे के रूप में भी है वही जमुना देवी जो मप्र में बुआजी के नाम से आदिवासी और महिला अस्मिता की बेख़ौफ़ नजीर रही है।जमुना देवी जिनके बेबाक बोल से मुख्यमंत्री रहते हुए दिग्गिराजा पूरे समय सहमे से रहते थे लेकिन उनकी जातीय पूंजी और कांग्रेस के प्रति वैचारिक प्रतिबद्धता को दिग्विजय ने सदैव आदर और यथोचित सम्मान दिया।स्व.जमुना देवी ने भी सदैव दिग्विजयसिंह के साथ अपने मतभेदों को अनुशासनहीनता की सीमा तक नही जाने दिया।लेकिन उनके भतीजे उमंग सिंघार ने शायद पीढ़ीगत विरासत से राजनीतिक मर्यादाओं को पूरी तरह से तिरोहित कर दिया है उन्होंने जिस भाषा और तरीके को दिग्विजयसिंह के विरुद्ध चुना है वह किसी भी सूरत में एक कैब...........

For More Download the App