मुस्लिम कट्टरता ही भारत के साम्प्रदायिक सदभाव में बाधक है...

1 month ago
desiCNN
पिछले सप्ताह संघ व जमायते-उलेमा-हिन्द के प्रमुखों की एक बैठक दिल्ली में संघ के मुख्य कार्यालय में हुई। देश में साम्प्रदायिक सद्भाव व सौहार्द का वातावरण बनाने के लिए साथ-साथ कार्य करने की कुछ योजनाएं बनाई जाएगी समाचार पत्रों से ऐसे कुछ संकेत मिलें है। इस अभियान की सफलता के लिए यह जानना भी आवश्यक है कि “राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ” का गठन स्व. डॉ हेडगेवार जी व उनके कुछ प्रखर राष्ट्रभक्त साथियों द्वारा किया गया था।भारतीय संस्कृति व उसके मूल्यों की रक्षार्थ “भारतीयता” को सर्वोपरि मानकर देशवासियों में राष्ट्रभक्ति का संचार करना ही इस संगठन का मुख्य लक्ष्य है। जबकि जमायते-उलेमा-हिन्द को “भारतीय राष्ट्रीयता” के स्थान पर केवल “आक्रान्ताओं की इस्लामिक विचारधारा” का पोषक माना जाता आ रहा है। अधिकांश इस्लामिक शक्तियां भारत में खलीफा का राज स्थापित करके भारत की व्...........

For More Download the App