मोदी का मिशन कश्मीर, और कुछ अन-सुलझे सवाल...

2 weeks ago
desiCNN
जम्मू-कश्मीर की अवधारणा पर पुराने कवच की भांति चस्पा अनुच्छेद 370 को समाप्त कर केन्द्र की हुकूमत ने उस परंपरा को अलविदा कह दिया है, जो पुराने नासूर की महज मरहम पट्टी कर राहत की सांस ले लेती थी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह ने इस बार मुकम्मल सर्जरी की वह विधि अपनाई है, जिसे अब तक जोखिमभरा माना जाता था। क्या इसे भगवा दल के आदि पुरुष श्यामा प्रसाद मुखर्जी के ‘एक देश, एक निशान, एक विधान’ के नारे का आकार ग्रहण करना माना जाए या इस भूभाग के लोगों के लिए अकेला जरूरी फैसला यही था? इन सवालों पर आगे चर्चा करेंगे। पहले, सोमवार के फलितार्थ की बात। इन फैसलों के अमल में आने के बाद जम्मू-कश्मीर से विशेष राज्य का दर्जा छिन जाएगा।अब जम्मू-कश्मीर दिल्ली अथवा पुडुचेरी की तरह विधानसभा संपन्न केन्द्र शासित प्रदेश होगा। लद्दाख को अलग कर दिया गया है। उसे विधानसभा रहित...........

For More Download the App