यस बैंक हादसा :- कमजोर-लचर RBI तथा उद्योगपति-राजनेता गठजोड़

2 weeks ago
desiCNN
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को डूबने वाले वित्तीय संस्थानों में यस बैंक के शामिल होने के तुरंत बाद लोगों और बाजार को आश्वस्त करते हुए कहा कि 'हम किसी भी संस्थान को बर्बाद नहीं होने दे सकते।' यह आश्वासन निस्संदेह छूने वाला और शक्तिशाली है, पर आश्वासन की साख शब्दों पर नहीं, बल्कि अतीत की कार्रवाइयों पर निर्भर करती है। वित्त मंत्री चाहें, तो अपने मंत्रालय के अधिकारियों और विनियामक रिजर्व बैंक से इससे पहले डूब चुके बैंकों और गैरबैंकिंग वित्तीय संस्थानों की स्थिति की जांच करवा सकती हैं।उदाहरण के लिए, वर्ष 2018 के पतझड़ में इन्फ्रास्ट्रक्चर लीजिंग ऐंड फाइनेंशियल सर्विसेज (आईएल ऐंड एफएस), 2019 की ग्रीष्म ऋतु में दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन (डीएचएफएल), और हाल ही में पंजाब ऐंड महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (पीएमसी बैंक) डूब गए। इनमें से हर संस्थान की पटकथा ...........

For More Download the App