राखीगढ़ी की खुदाई ने वामियों और चर्च के कुतर्कों को ध्वस्त किया

2 months ago
desiCNN
राखीगढी में मिले ५००० साल पुराने कंकालों के डीएनए टेस्ट के बाद जारी की गई रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि, आर्य कहीं बाहर से नहीं आए उलटे यहां की सभ्यता यहीं विकसित हुई ! आर्यों को लेकर कई दावे किए गए लेकिन फिर भी सवाल ज्यों का त्यों रहा कि, आर्य बाहर से आए थे या यहीं (भारत) के ही निवासी थे ? इस सवाल के जवाब में वामपंथियों ने कई दावे किए जिसका मकसद भारतियों को शायद हीन साबित करना रहा हो लेकिन अब इस सवाल का जवाब स्पष्ट नजर आने लगा है ! दरअसल, हरियाणा के हिसार जिले के राखीगढी में हुई हडप्पाकालीन सभ्यता की खोदाई में कई ऐतिहासिक राज का खुलासा गया है ! बता दें कि, राखीगढी में मिले ५००० साल पुराने कंकालों के डीएनए टेस्ट के बाद जारी की गई रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि, आर्य कहीं बाहर से नहीं आए उलटे, यहीं अर्थात भारत के ही के मूल निवासी थे ! डीएनए स्टडी से यह भी खुलासा हुआ है कि, भारत के लोग...........

For More Download the App