राफेल विमान सौदा :- भ्रष्टाचार और रिलायंस संबंधी तथ्य और तर्क

6 months ago
desiCNN
(लेखक :- सुमंत विद्वांस)इस लेख के पिछले भाग में मैंने इस बारे में लिखा था कि राफ़ेल डील की शुरुआत कब हुई, पिछली यूपीए सरकार के समय उसमें किन कारणों से देरी हुई व बाद में मोदी सरकार ने पुरानी डील रदद् करके सीधे फ़्रांस की सरकार के साथ क्यों डील की और १८ के बजाय ३६ विमान खरीदने का निर्णय क्यों लिया गया। (पहला भाग आप यहां पढ़ सकते हैं: http://www.blog.sumant.in/rafale1/)लेकिन इसमें रिलायंस की क्या भूमिका है और सरकारी कंपनी एचएएल का नाम इसमें शामिल क्यों नहीं है? क्या सरकार ने अनिल अंबानी को फ़ायदा पहुँचाने के लिए एचएएल का कॉन्ट्रैक्ट छीनकर रिलायंस को दे दिया है? क्या काँग्रेस का यह आरोप सही है कि अंबानी ने इस डील से सिर्फ़ १२ दिन पहले रिलायंस डिफेंस नाम से रातोंरात एक कंपनी बनाई और मोदी सरकार ने फ़्रांस पर दबाव डालकर उस कंपनी को ठेका दिलवाया?  ३१ जुलाई २०१८ को कांग्रेस के मुखपत्र 'नेशनल हेराल्ड' म...........

For More Download the App