राम जन्मभूमि की मुक्ति का अर्थ क्या है?

10 months ago
desiCNN
(लेखक :- मनोज ज्वाला)भारत के राष्ट्रीय नायक अर्थात राष्ट्र-पुरुष राम की जन्मभूमि वर्षों तक राज-सत्ता के अधीन रहने के बाद अब मुक्त हो चुकी है। राम को परम ब्रह्म परमात्मा का अवतार मानने वाला हिन्दू-समाज अयोध्या की उस भूमि पर उनकी मंदिर बनाने जा रहा है जो राम मंदिर कहलाएगा। राम केवल उन्हीं लोगों के नहीं हैं जो उन्हें भगवान मानते हैं। राम तो उनके भी पूर्वज हैं जो उन्हें भगवान या भगवान का अवतार नहीं मानते हैं। राम इस देश के इतिहास-पुरुष हैं। इस तथ्य के सत्य से अब कोई इनकार नहीं कर सकता है। देश के शीर्ष न्यायालय ने ऐतिहासिक-पुरातात्विक साक्ष्यों के आधार पर इस सत्य को स्थापित कर दिया है। तभी तो उसने ‘रामलला विराजमान’ के पक्ष में अपना यह निर्णय दिया है कि उक्त विवादित भूमि के वास्तविक स्वामी स्वयं रामलला हैं। वही रामलला जो सृष्टि रचने वाले ब्रह्मा की 39वीं पीढ़ी के महाप...........

For More Download the App