विवाह में मौके पर "हर्ष फायरिंग" की कुप्रथा बंद होनी चाहिए....

2 weeks ago
desiCNN
विवाह के मौके पर "हर्ष फायरिंग" के नाम पर एक गलत प्रथा शुरू हो गई है. इसमें अधिकांशतः केवल दिखावा और शक्ति प्रदर्शन ही होता है, इसका परंपरा से कोई लेना-देना नहीं है... अलबत्ता पिछले कुछ वर्षों का रिकॉर्ड देखें तो इस "कथित हर्ष" फायरिंग में कई दुर्घटनाएँ हुईं और कुछ लोग मारे गए या घायल हुए... रोज फॉर्म, दिल्ली में इसी साल नए वर्ष के अवसर पर रात का सन्नाटा अचानक हुई हवाई फायरिंग से टूटा और तभी विकास गुप्ता ने अपनी पत्नी अर्चना को गिरते हुए देखा। दो बच्चों की मां, घायल अर्चना को तुरंत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उन्होंने दम तोड़ दिया। इससे कुछ दिन पहले गाजियाबाद में विवाह के अवसर पर दागी गई गोली से एक 20 वर्षीय युवा की मौत हो गई।प्रत्येक वर्ष गोलियों से इस प्रकार मरने वालों की संख्या बढ़ती ही जा रही है। विवाह एवं अन्य इसी प्रकार के समारोहों में गोलियां दागकर लोग अपनी कथित मर्दा...........

For More Download the App