“शिक्षा का अधिकार” यानी (RTE) हिन्दुओं के लिए जज़िया है... जानिये कैसे.

4 months ago
Suresh Chiplunkar
ज़ाहिर है कि शीर्षक पढ़कर आप चौंक गए होंगे. स्वाभाविक सी बात है, क्योंकि आपके दिमाग में यह बैठा दिया गया है कि शिक्षा का अधिकार क़ानून यानी राईट टू एजूकेशन (RTE) एक गरीब समर्थक और समाज की भलाई के लिए बनाया क़ानून है. जिसके जरिये समाज के वंचित बच्चों को अच्छे स्कूलों में मुफ्त शिक्षा मिलती है. असल में होता यह है कि अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जब भी कोई स्वार्थी मुहीम चलानी होती है तो उसे ऐसे ही मधुर शब्दों के पीछे छिपाया जाता है, फिर सम्बंधित देश की सरकारों को झाँसे में लेकर ऐसे कानूनों की रचना की जाती है, जिसके द्वारा लूट संभव हो सके. इसके लिए भारीभरकम फण्ड जुटाया जाता है और सरकारों पर विभिन्न NGOs और आन्दोलनों के जरिये दबाव बनाया जाता है. मधुर शब्दजाल बुना जाता है और क़ानून की महीन परतों के पीछे लूट का कार्यक्रम बनाया जाता है.जब आप यह लेख पूरा पढेंगे तो आप समझ जाएँगे कि कहाँ-कहा...........

For More Download the App