संकीर्ण विचारधारा से टूटता हुआ भारत का सामाजिक ढांचा

1 week ago
desiCNN
भारत वर्ष की समाजिक व्यवस्था सदियों से धार्मिक व सामाजिक सद्भाव व सौहार्द पर आधारित रही है। देश के ऐसे अनगिनत उदाहरण हैं जो हमें यह बताते आ रहे हैं कि किस तरह हमारे पूर्वजों ने सौहार्द की वह बुनियाद रखी जिस का अनुसरण आज तक हमारा देश और यहाँ के बहुसंख्य लोग करते आ रहे हैं। उदाहरण के तौर पर मराठा शासक छत्रपति शिवाजी एक मुस्लिम सूफ़ी संत बाबा याक़ूत शहर वर्दी के बड़े मुरीद थे। शिवाजी ने बाबा याक़ूत को 653 एकड़ ज़मीन जागीर के रूप में भेंट कर वहाँ एक विशाल ख़ानक़ाह का निर्माण करवाया। शिवाजी जब भी युद्ध के लिए जाते थे तो अपनी विजय के लिए बाबा याक़ूत से आशीर्वाद लेकर जाते थे। इसी तरह अयोध्या सहित देश के अनेक स्थानों पर मुस्लिम शासकों द्वारा मंदिर निर्माण के लिए ज़मीनें दी गईं व पूजा हेतु वज़ीफ़े निर्धारित किये गए। भारतीय इतिहास के रहीम,रस खान व जायसी जैसे अनेक मुस्लिम कवि ऐसे हुए ...........

For More Download the App