संघर्ष की अदभुत मिसाल :- प्रभावती अम्मा

1 week ago
desiCNN
संघर्ष की अद्भुत मिसाल की यह सत्य कहानी है। तस्वीर में दिख रही 67 वर्षीय प्रभावती अम्मा हाथ उठा कर प्रभु का शुक्रिया अदा कर रही हैं। आखों से बहते आंसू उस 13 वर्ष लंबे सँघर्ष की गवाही दे रहे हैं जो प्रभावती ने अपने इकलौते बेटे को न्याय दिलवाने में किया है। प्रभावती के पति के देहांत के बाद उनपर अपने बेटे उदयकुमार के पालन पोषण की ज़िम्मेवारी आन पड़ी। हालात मुश्किल थे परन्तु प्रभावती ने हिम्मत दिखाई और घर घर साफ सफाई का काम करते करते उदय का पालन पोषण करती रही। उदय जवान हुआ तो उसने भी छोटा मोटा काम शुरू कर दिया।27 सितंबर 2005 की रात प्रभावती के जीवन में भूचाल ले आयी थी। ओणम का त्योहार था और उदय अपनी माँ के लिये नए कपड़े लेने घर से निकला था। इतने में ही तिरुवनंतपुरम पुलिस के 2 कॉन्स्टेबलस ने उदय को रोक लिया और उसकी तलाशी लेनी शुरू कर दी। उदय की जेब मे 4000 रुपये थे। कॉन्स्टेबल के पूछन...........

For More Download the App