हिंदुओं के लिए पाकिस्तान बना नर्किस्तान... भीषण अत्याचार

2 weeks ago
desiCNN
1947 में भारत विभाजन के उपरांत पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना ने अपने पहले भाषण में कहा था कि ‘हमें अपने व्यवहार और विचार से अल्पसंख्यकों को ये जता देना चाहिए कि हम उनकी जिम्मेदारी उठाने को तैयार हैं और उन्हें चिंता करने की जरुरत नहीं है।’ लेकिन गत दिवस पहले जिस तरह सिंध प्रांत में अल्पसंख्यक समुदाय की दो नाबालिग हिंदू बहनों रवीना और रीना का अपहरण करके और फिर उनका जबरन धर्मांतरण कराकर बलपूर्वक निकाह किया गया उससे स्पष्ट है कि पाकिस्तान अपने अल्पसंख्यकों की सुरक्षा और उनकी प्रतिष्ठा को सहेजने में पूरी तरह नाकाम है। सच तो यह है कि आज पाकिस्तान हिंदुओं के लिए कत्लगाह और उनकी बेटियों के लिए नर्किस्तान बन चुका है। चंद रोज पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने होली के पर्व पर हिंदू समुदाय को बधाई और शुभाकामनाएं दी। लेकिन उनकी इस बधाई और शुभकामना ...........

For More Download the App