हिमालय क्षेत्र में बढ़ती बाढ़ की संख्या :- बड़ी त्रासदी का संकेत

2 weeks ago
desiCNN
विभिन्न संस्कृतियों और मान्यताओं वाले मानव समूहों में वर्चस्व को लेकर चले संघर्षों से निजात पाने के लिए जब कुछ मानव समूह हिमालय की ओर आए होंगे तो उन्होंने हिमालय की कंदराओं को सबसे सुरक्षित ठिकाना पाया होगा। इस हिमालय ने न केवल मानव समूहों को आश्रय दिया बल्कि विदेशी आक्रमणकारियों के आगे ढाल बनकर उनकी रक्षा करने के साथ ही उनकी आजीविका के साधन भी उपलब्ध करा, इसलिए कालीदास ने अपने महाकाब्य ‘‘कुमारसंभव’’ में हिमालय को ‘धरती का मानदण्ड’ और ‘दुनिया की छत तथा आश्रय’ बताया था। लेकिन इस हिमालय पर जिस तरह दिन-प्रतिदिन प्राकृतिक आपदाएं बढ़ती जा रही हैं उनसे देखते हुए प्रकृति प्रदत्त यह आश्रय अब सुरक्षित नहीं रह गया है।बरसात में मौतें ही मौतेंहिमाचल प्रदेश में अगस्त महीने के तीसरे सप्ताह तक इस साल की मॉनसून आपदाओं में 63 लोगों की जानें चली गई थीं। प्रदेश के मुख्यमंत...........

For More Download the App