Posts

टीटू मियाँ हों या टीपू मियाँ : सेनानी नहीं, शुद्ध जेहादी

आज के वर्तमान बांग्लादेश लेकिन अंग्रेजों के समय जो अविभाजित बंगाल था, वहाँ ए ... [Read More]

desiCNN 2 years ago


भारतीय संस्कृति में रचे-बसे, अफ्रीका के हजारों नीग्रो

एक जनरल स्टोर के बाहर भीड़ के मध्य क्रान्तिवीर फिल्म के पात्र नाना पाटेकर का ... [Read More]

अभिषेक पाण्डेय 2 years ago


खाद्यान्न सुरक्षा योजना को ठेंगा दिखाता एक आदिवासी गाँव

खाद्य सुरक्षा बिल और गरीबों के लिए चलने वाली सस्ते अनाज की तमाम योजनाओं (Food Securi ... [Read More]

desiCNN 2 years ago


मधु दण्डवते : कोंकण रेलवे के सूत्रधार, राजनैतिक संत

कणकवली रेलवे स्टेशन से मुम्बई यात्रा करते समय अथवा वहाँ से वापस आते समय स्टे ... [Read More]

अनुपम काम्बली 2 years ago


विश्व का एकमात्र "स्वाभाविक" राष्ट्र भारत ::- और बाकी फर्जी

अक्सर आपने कुछ "कथित इतिहासकारों" के मुँह से यह सुना होगा, कि "भारत तो कभी एक रा ... [Read More]

प्रो. कुसुमलता केडिया 2 years ago


बँटवारा, खिलाफत आंदोलन :- जिन्ना, गाँधी और आंबेडकर

भारत का बँटवारा एक कटु ऐतिहासिक सत्य है. 1947 में भारत छोड़कर जाने से पहले अंग्रे ... [Read More]

विशाल माहेश्वरी 2 years ago